Latest News

बर्फ की चादर में लिपटा मां वैष्णो देवी का दरबार,हेलीकाॅप्टर सेवा-केबल कार सेवा बंद

जम्मू,। मां वैष्णो देवी का दरबार, भैरव घाटी और त्रिकुटा पर्वत बर्फ की सफेद चादर में लिपटा हुआ है। देर रात से शुरू हुई बर्फबारी व बारिश अभी भी जारी है। वहीं श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने खराब मौसम के चलते श्रद्धालुओं की सुरक्षा के मद्देनजर बैटरी कार सेवा, हेलीकाॅप्टर सेवा और भवन से भैरव घाटी के बीच चलने वाली पैसेंजर केबल कार को फिलहाल बंद कर दिया है। यह इस सीजन में चौथी बार बर्फबारी हो रही है। रात से हो रही इस बर्फबारी ने भैरव घाटी से लेकर अर्द्धकुंवारी तक पूरे यात्रा मार्ग को अपने आघोष में ले लिया है।बर्फबारी और बारिश के बीच भी श्रद्धालुओं के उत्साह में कोई कमी देखने को नहीं मिल रही है। दोपहर साढ़े तीन बजे तक करीब 7500 श्रद्धालु पंजीकरण करवा चुके थे। जय माता दी के जयकारे लगाते हुए श्रद्धालु निरंतर मां के दर्शनों के लिए दरबार की तरफ बढ़ रहे हैं। श्रद्धालुओं की सुरक्षा को यकीनी बनाने के लिए बोर्ड ने आपदा प्रबंधन व बोर्ड के कर्मचारियों को यात्रा मार्ग पर तैनात कर दिया है। पिछले दिनों बारिश के दौरान बैटरी कार मार्ग पर भूस्खलन होने से तीन श्रद्धालु घायल हो गए थे। ये मार्ग करीब छह दिन बाद गत सोमवार को ही श्रद्धालुओं के लिए खोला गया है। हालांकि बोर्ड कर्मचारी इस मार्ग पर भवन की ओर जाने व आने वाले श्रद्धालुओं को कहीं भी रूकने नहीं दे रहे हैं। उन्हें विश्राम करने के लिए शेड के नीचे खड़े होने के लिए ही कहा जा रहा है।बोर्ड ने कहा कि बारिश अभी नीचले मार्ग पर ही हो रही है। अर्द्धकुंवारी से ऊपर बर्फबारी हो रही है। यात्रा मार्ग पर चलने वाले श्रद्धालुओं के लिए हर संभव व्यवस्था की गई है। विश्राम स्थल पर आग की व्यवस्था की गई है जबकि बर्फ के कारण मार्ग पर फिसलन न हो इसको लेकर कर्मचारियों को बर्फ हटाने के लिए भी तैनात किया गया है। भैरव घाटी का पैदल मार्ग श्रद्धालुओं के लिए खुला है परंतु पैसेंजर केबल कार सेवा फिलहाल खराब मौसम की वजह से स्थगित रखी गइ है। इसके अलावा सांझीछत हेलीपैड पर भी बर्फ पड़ी हुई है। ऐसे में यहां भी हेलीकाॅप्टर का उतरना मुमकिन नहीं है। मौसम में सुधार होने तक हेलीकाॅप्टर सेवा को भी स्थगित कर दिया गया है।मौसम की इन तमाम दुश्वारियों के बावजूद बरसाती, छाते पहने मां के भक्त यात्रा मार्ग पर आते और जाते दिख रहे हैं। सर्द मौसम में बर्फबारी का आनंद उठाते हुए ये श्रद्धालु मां के जयकारे लगाते हुए यात्रा कर रहे हैं। हालांकि ठंड से बचने के लिए श्राइन बोर्ड द्वारा यात्रा मार्ग पर किए गए इंतजामों का भी ये भरपूर फायदा उठा रहे हैं। इसी बीच हेलीकाप्टर सेवा और बेटरी कार की बुकिंग रद कर दिए जाने के कारण कई श्रद्धालुओं ने आज कटड़ा कस्बा में भी पड़ाव डाल लिया है। यदि कल भी मौसम की यही स्थिति रहती है तो ये श्रद्धालु पैदल ही यात्रा करेंगे। हालांकि कई श्रद्धालु ऐसे भी थे, जिन्होंने बुकिंग रद होने के बाद मौसम का आनंद उठाते हुए यात्रा शुरू की।बोर्ड से मिली जानकारी के अनुसार देर रात से जारी बर्फबारी के बाद अब तक त्रिकुट पर्वत पर तीन फुट बर्फ की चादर बिछ चुकी है। इसके अलावा भैरों घाटी में दो से ढाई फुट, वैष्णो देवी भवन में दो फुट, सांझी छत में डेढ़ फुट बर्फ पड़ चुकी है। श्रद्धालुओं के आने जाने के लिए फिलहाल सभी यात्रा मार्ग खुले हुए हैं।

Comment here